ईमेल के माध्यम से सदस्यता लें

अपना ईमेल पता दर्ज करें:

अब सिर्फ एक साल में मिल जाएगी मास्टर्स ऑफ लॉ की डिग्री


नई दिल्ली।कानून की पढ़ाई कर रहे युवाओं के लिए अच्छी खबर है। दो साल में मिलने वाली मास्टर्स ऑफ लॉ (एलएलएम) की डिग्री अब एक साल में मिलेगी। यूजीसी ने विशेषज्ञों से विचार-विमर्श के बाद आखिरकार नियमों में बदलाव को हरी झंडी दिखा दी है। यूजीसी के इस फैसले से अब कानून की पढ़ाई कर रहे छात्रों का सीधे-सीधे एक साल बचेगा.यूजीसी के इस निर्णय के तहत प्रो.माधव मेनन की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति की रिपोर्ट को ध्यान में रखा गया है। यूजीसी ने बीते साल एलएलएम पाठ्यक्रम को एक साल का करने के लिए ड्रॉफ्ट को अंतिम रूप देने का काम इस समिति को दिया था।इस फैसले के तहत यूजीसी (मिनिमम स्टैंडर्डस ऑफ इंफ्रास्ट्रक्चर फॉर द ग्रांट ऑफ द मास्टर्स डिग्री थ्रू फॉर्मल एजुकेशन) रेगुलेशन 2003 में बदलाव किया गया है।
यूजीसी की ओर से मंजूर नई व्यवस्था के तहत एक वर्षीय मास्टर्स डिग्री का प्रावधान कानून की पढ़ाई के लिए ही लागू किया जा रहा है।विशेषज्ञों की मानें तो एलएलबी की डिग्री के लिए आज डीयू में जहां ग्रेजुएशन के बाद तीन साल लगते हैं, वहीं अन्य कई विवि व शिक्षण संस्थान 12वीं के बाद यह डिग्री कोर्स पांच वर्षो में करा रहे हैं। ऐसे में जो छात्र एलएलएम की मास्टर्स डिग्री के लिए जाते हैं, उन्हें दो साल और पढ़ना होता है।http://www.bhaskar.com/article/DEL-now-masters-of-law-degree-will-get-in-a-year-3902854.html